0

Love Shayari | mohabbat khud bataatee hain

मोहब्बत खुद बताती हैं
कहाँ किसका ठिकाना है
किसे ऑखों में रखना है
किसे दिल में बसाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *